बैकारेट 5 कमीशन

बैकारेट 5 कमीशन

time:2021-10-25 15:15:22 सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल Views:4591

lovebet ज़ पोल्स्की बैकारेट 5 कमीशन betway केवाईसीओ,लियोवेगास एंड्रॉइड ऐप,lovebet 7,lovebet जॉब स्टोक,lovebet यू श्रीबिजी,365 ऑनलाइन सट्टेबाजी,बैकरेट सट्टेबाजी के नियम,बैकारेट गुणवत्ता,बेस्ट ऑफ फाइव सीरीज एनबीए,क्या मैं लॉटरी टिकटों पर ऑनलाइन बेट लगा सकता हूँ?,कैसीनो ओ'कोनेल स्ट्रीट डबलिन,दुनिया में शतरंज के खिलाड़ी,क्रिकेट ग्राहक सेवा,डी लवबेट,यूरोपीय कप फुटबॉल ऑनलाइन सट्टेबाजी,फुटबॉल डी बॉक्स आकार,जुआ नेटवर्क रैंकिंग,खुश किसान रॉबर्ट शुमान,भारतीय रम्मी,जैकपॉट पूरी फिल्म डाउनलोड फिल्मीज़िला,नवीनतम फुटबॉल वीडियो,घर पर लाइव रूले बेट,आज के लिए लॉटरी नंबर,m.lovebet365,ऑनलाइन कैसीनो मुफ्त स्पिन कोई जमा नहीं,ऑनलाइन game.in,ऑनलाइन स्लॉट सिंगापुर,पोकर 77,पोकर्र्र २,रूले यूटलेग,रम्मी जॉय ऐप लिंक,स्कोरिंग अंक रम्मी,स्लॉट्स और इंफॉर्मेटिका,खेल अभिभावक,तीन पत्ती पेटीएम,सबसे पूर्ण फुटबॉल नेविगेशन,आभासी क्रिकेट टिकट,धन के देवता को जीतें,अ cricket,कैटरीना और सलमान खान के गाने,खेल लॉटरी t20,जोकर का टिक टॉक,पोकर बैलेंस क्या होता है,बेटा आलू,रैट रेड पैकेट,स्टेटस रिंगटोन, .सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

क्रिप्‍टोकॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
हाल के कुछ समय में युवाओं की क्रिप्‍टोकरेंसी में दिलचस्‍पी बढ़ी है. इसे देखते हुए नए युग की टेक्‍नोलॉजी कंपनियां ऐसे कर्मचारियों को उनकी सैलरी का कुछ हिस्‍सा, बोनस या अन्‍य इंसेंटिव क्रिप्‍टोकरेंसी में दे रही हैं. कंपनियों के लिए यह पेमेंट का आसान और तेज तरीका है. वहीं, क्रिप्‍टोकरेंसी के बढ़ते मूल्‍य कर्मचारियों को लुभा रहे हैं.

कंपनियों ने इसके लिए दो तरीके अपनाएं हैं. पहला, खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराना और कानूनी या टैक्‍स संबंधी अड़चनों से कर्मचारियों को बचाने के लिए क्रिप्‍टोकरेंसी में उन्‍हें पेमेंट करना है. दूसरा, पेमेंट का रिकॉर्ड रुपये में ट्रांजैक्‍शन के तौर पर अपने बहीखातों में दर्ज करना है.

इसे भी पढ़ें : फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

यह कैसे काम करता है?
- क्रिप्‍टो कॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
- कंपनियों ने यह भी सुनिश्चित किया है कि रुपया क्रिप्‍टो कॉइन में कन्‍वर्ट हो सके और रुपये ट्रांजैक्‍शन के तौर पर पेमेंट रिकॉर्ड हों.
- ऐसी ज्‍यादातर कंपनियां टीथर (यूएसडीजी) का इस्‍तेमाल करती हैं. ये ज्‍यादा स्थिर क्रिप्‍टोकरेंसी हैं. इसका कन्‍वर्जन 1 डॉलर से सीधे 1 यूएसडीटी में हो जाता है.
- अन्‍य इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन में पेमेंट करती हैं.

देश में स्थिति नहीं है साफ
देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं. चेन एसेट्स कैपिटल नाम के क्रिप्‍टो हेज फंड के प्रमुख उपिंदर प्रीत सिंह ने कहा कि भारत में क्रिप्‍टोकरेंसी की मान्‍यता को लेकर बहुत से नियम हैं. इनमें स्‍पष्‍टता का भी अभाव है.

पटना में रहने वाले कंसल्‍टेंट सुजीत कुमार ने कहा, ''क्रिप्टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये ऑल्‍टकॉइन को भुनाने के बाद मैंने इस रकम को टैक्‍स रिटर्न में कंसल्‍टेंट फीस के तौर पर इनकम में दिखाया है.''

इसे भी पढ़ें : अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

कुमार को इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन जैसे ऑल्‍टकॉइन का भुगतान होता है. इसे वह भारतीय क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये भुनाते हैं. वह कहते हैं, ''मैं अमूमन अपनी जरूरत के अनुसार कॉइंस को कन्‍वर्ट करता हूं. मेरे ज्‍यादातर क्‍लाइंट क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट में हैं. लिहाजा, ट्रांजैक्‍शन आसानी और तेजी से हो जाता है. मैंने पिछले साल का अपना बोनस भी क्रिप्‍टोकरेंसी के जरिये लिया है.''

एक क्रिप्‍टोकरेंसी न्‍यूज वेबसाइट के सीईओ ने कहा, ''हम जहां क्रिप्‍टाकरेंसी में सैलरी का भुगतान करते हैं, वहां नियमों का पूरा पालन किया जाता है. कर्मचारियों को रुपये में सैलरी स्लिप दी जाती है. यह कर्मचारियों की क्रिप्‍टो में सैलरी स्लिप की आशंका को दूर सकता है.''

क्‍या है सरकार का रुख?
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को कहा कि सरकार गवर्नेंस में सुधार के लिए क्रिप्टोकरेंसी सहित नई तकनीकों पर विचार करने को तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद गवर्नेंस के विभिन्न पहलुओं में टेक्‍नोलॉजी को अपनाने के मजबूत समर्थक हैं. इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा था कि सरकार अभी भी क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय तैयार कर रही है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीप्‍लास टोकनट्रांजैक्‍शनसैलरी और पर्क्‍स का पेमेंटइथीरियम

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) छत्तीसगढ़ स्थित हीरा समूह की इकाई गोदावरी ई-मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड रायपुर में एक इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए 2023 तक 150 करोड़ रुपये तक निवेश करने की योजना बना रही है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपनी साथ ही दक्षिण और पश्चिम भारत के बाजारों में अपनी पहुंच को बढ़ाने के साथ नए उत्पादों को उतारने की भी तैयारी कर रही है। कंपनी वर्तमान में पूर्वी और उत्तर भारत के छह राज्यों में इब्लू ब्रांड के तहत बिजली से चलने वाले (इलेक्ट्रिक) तिपहियानयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक सितंबर में देश में 16,570 नयी कंपनियों का पंजीकरण हुआ, जिससे सक्रिय कंपनियों की कुल संख्या 14.14 लाख से ज्यादा हो गयी। कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय के आंकड़ों से पता चला है कि 30 सितंबर तक देश में कुल 22,32,699 कंपनियां पंजीकृत थीं। कंपनी अधिनियम, 2013 के अनुसार इनमें से 7,73,070 कंपनियां बंद हो गयीं, 2,298 निष्क्रिय हो गयीं, 6,944 तरलता के अधीन थी और 36,110 बंद होने की प्रक्रिया में थीं। मंत्रालय के कॉरपोरेट क्षेत्र से जुड़े मासिक सूचना बुलेटिन के अनुसार, 30 सितंबर तक देश में 14,14,277 सक्रिय कंपनियां थीं।फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.कितनी सेफ है आपकी जॉब? खतरों के इन 7 संकेतों के बारे में जान लें

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) सरकार भारत बांड ईटीएफ की अगली किस्त दिसंबर तक ला सकती है। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि सरकार भारत बांड ईटीएफ से दिसंबर तक 10,000 करोड़ रुपये जुटा सकती है। इस राशि का इस्तेमाल केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) की वृद्धि की योजना में किया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों की कोष की जरूरत का आकलन किया जा रहा है और एक्सचेंज ट्रेडेड कोष (ईटीएफ) की तीसरी किस्त को चालू कैलेंडर वर्ष के अंत से पहले पेश किया जाएगा। उन्होंनेइस्लामाबाद, 24 अक्टूबर (भाषा) चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) प्राधिकरण के प्रमुख ने अमेरिका पर अरबों डॉलर की इस परियोजना को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है। परियोजना को पाकिस्तान की आर्थिक जीवनरेखा करार दिया गया है।महत्वाकांक्षी सीपीईसी परियोजना 2015 में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की पाकिस्तान यात्रा के दौरान शुरू की गयी थी।इसका उद्देश्य पश्चिमी चीन को सड़कों, रेलवे, और बुनियादी ढांचे एवं विकास की अन्य परियोजनाओं के नेटवर्क के माध्यम से दक्षिण-पश्चिम पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह से जोड़ना है।सीपीईसी मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक खालिद मंसूर ने शनिवार को कराची में सीपीईसी शिखर सम्मेलन कोकोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्लॉट्स मीनिंग इन हिंदी

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.

तीन पत्ती गोल्ड मोड APK

Paytm IPO: उद्योगपति हर्ष गोयनका (Harsh Goenka) ने एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) खुशी से झूमते हुए दिख रहे हैं। कहा जा रहा है कि पेटीएम को सेबी की तरफ से आईपीओ लाने की मंजूरी (Paytm gets sebi node for ipo) के बाद ये वीडियो बना है। आइए जानते हैं वीडियो की हकीकत और देखते हैं मजेदार कमेंट जो आपको जरूर पसंद आएंगे।

लाइव कैसीनो करियर

चेन्नई, 24 अक्टूबर (भाषा) सीमेंट विनिर्माता कंपनी इंडिया सीमेंट्स के वाइस-चेयरमैन एन श्रीनिवासन का मानना है कि आईपीएल-2021 में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) की जीत इंडिया सीमेंट्स लिमिटेड के साथ उसकी समानताओं को दर्शाती है। इंडिया सीमेंट्स दरअसल आईपीएल की सबसे सफल टीमों में से एक चेन्नई सुपर किंग्स की प्रमुख प्रायोजक है। संयुक्त अमीरात अरब में आयोजित हुए आईपीएल 2021 के फ़ाइनल मुकाबले में चेन्नई ने कोलकाता को हरा कर चौथी बार खिताब जीता था। चेन्नई मुख्यालय वाली इंडिया सीमेंट्स के प्रबंध निदेशक ने हाल ही में एक बातचीत के दौरान कहा, ‘‘इंडिया सीमेंट्स कंपनी 75 साल की

खेल फैशन के जूते

Paytm IPO: उद्योगपति हर्ष गोयनका (Harsh Goenka) ने एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) खुशी से झूमते हुए दिख रहे हैं। कहा जा रहा है कि पेटीएम को सेबी की तरफ से आईपीओ लाने की मंजूरी (Paytm gets sebi node for ipo) के बाद ये वीडियो बना है। आइए जानते हैं वीडियो की हकीकत और देखते हैं मजेदार कमेंट जो आपको जरूर पसंद आएंगे।

ऑनलाइन जुआ खेलना है

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.

संबंधित जानकारी
री फुटबॉल कैंप

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कपड़ा मशीनरी क्षेत्र से आयात पर निर्भरता घटाने को कहा है। उन्होंने कपड़ा मशीनरी क्षेत्र में 100 ‘चैंपियनों’ के विकास पर जोर देते हुए कहा कि कपड़ा इंजीनियरिंग उद्योग तथा सरकार के सम्मिलित प्रयासों से क्षेत्र की आयात पर निर्भरता को कम किया जा सकता है। वाणिज्य एवं उद्योग, कपड़ा, उपभोक्ता मामले तथा खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री ने शुक्रवार को कपड़ा मशीनरी विनिर्माताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान यह बात कही। उन्होंने कपड़ा मशीनरी विनिर्माताओं से कहा कि वे पहले से तैयार सुविधाओं के जरिये काम करें और

गरम जानकारी
lovebet हंगरी

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) को वीडियोकॉन टेलीकम्युनिकेशंस के दो पूर्व अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के मामले पर "नये सिरे से ध्यान देने" और उन्हें सुनवाई का मौका देने के बाद नया आदेश जारी करने का निर्देश दिया है। इन दोनों पूर्व अधिकारियों की संपत्तियां और बैंक खातों पर रोक लगी हुई है। एनसीएलएटी ने एनसीएलटी की मुंबई पीठ को "निष्पक्ष, न्यायसंगत, संयमशील तरीके से गुण के आधार पर, नए सिरे से" जल्द ही जरूरी नया आदेश जारी करने का निर्देश देते कहा कि उसने (एनसीएलटी) "नैसर्गिक न्याय के