विश्व कप इंग्लैंड बनाम संयुक्त राज्य अमेरिका

Publishing time:2021-10-25 15:26:00

ओह लॉटरी परिणाम विश्व कप इंग्लैंड बनाम संयुक्त राज्य अमेरिका 10cric वीआईपी,casumo कब तक वापस लेना है,लियोवेगास टीवी,lovebet कस्टमर केयर,lovebet ओ'डॉनेल चेरी हिल nj,lovebet 2020,क्या बैकारेट में कोई कौशल है?,बैकारेट गेम खाता खोलना,बिक्री के लिए बैकारेट वेबसाइट,पैसा बनाने की रणनीति सट्टेबाजी,कैसीनो ब्रैंगो,कैसीनो युद्ध पोकर,क्लासिक रम्मी निकासी समय,क्रिकेट लाइव स्कोर भारत बनाम इंग्लैंड,एफ़ुटबॉल कोनामी,एफ फुटबॉल टीम,फुटबॉल पी एल,उत्पत्ति कैसीनो टेलीफ़ोनो,Baccarat पर बेट कैसे लगाएं,आईपीएल प्वाइंट टेबल,जैकपॉट जीतने वाला नंबर,हाल के फुटबॉल मैचों का सीधा प्रसारण,लॉटरी 3 नंबर,लकी 6 लवबेट,एनबीए लाइव बास्केटबॉल स्कोर,ऑनलाइन कैसीनो zdarma,ऑनलाइन पोकर विरेनडेन से मिले,परिमच जिंसी या कुजिउंगा,पोकर युद्ध का अवसर है,रियल मनी फिशिंग बोर्ड गेम,शासन राजा,रम्मी वेगास एपीके डाउनलोड,स्लॉट मशीन लॉन्गबोर्ड,खेल 888,स्पोर्ट्सबुक लाइन्स,टेक्सास होल्डम नो लिमिट रूल्स,टीआर क्रिकेट ऐप डाउनलोड,मैं सेकेंड-हैंड स्लॉट मशीन कहां से खरीद सकता हूं,वाई फुटबॉल की स्थिति,एक बकरी,क्रिकेट ground,गोवा जाने का सही समय,तिरुपति रमी,बकरा इन इंग्लिश,बेटा हूं,लॉटरी भेजा, .टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

इंश्‍योरेंस डिस्‍ट्रीब्‍यूटरों के अनुसार, कुछ कंपनियों ने अप्रैल 2021 से दरें बढ़ाने के संकेत दिए हैं.
मुंबई : देश की लाइफ इंश्‍योरेंस कंपनियां टर्म प्‍लान के प्रीमियम बढ़ाने की तैयारी में हैं. इसकी वजह है कि कई रीइंश्‍योरेंस कंपनियां दरें बढ़ा चुकी हैं. ये फर्में बीमा कंपनियों के जोखिम का इंश्‍योरेंस करती हैं. रीइंश्‍योरेंस कंपनियों ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब घरेलू जीवन बीमा कंपनियां कोविड के चलते अपेक्षा से अधिक मार्टेलिटी क्‍लेम का सामना कर रही हैं.

भारतीय बीमा कंपनियों के लिए रीइंश्‍योरेंस रेट महामारी के पहले से ही बढ़ रहे थे. अमेरिका की आरजीए की अगुआई में ग्‍लोबल अंडरराइटर्स ने भारतीय बाजार में कम दरों को लेकर चिंता जताई थी. चूंकि यह बढ़ोतरी महामारी के दौरान हुई है. इसलिए बीमा कंपनियों के पास ज्‍यादा लागत को खुद वहन कर लेने की गुंजाईश नहीं है. बताया जाता है कि घरेलू रीइंश्‍योरेंस कंपनी जीआईसी आरई ने भी कुछ कॉन्‍ट्रैक्‍ट के लिए कीमतों में बढ़ोतरी की है.

इसे भी पढ़ें : सिर्फ एक मिस कॉल पर मिलेगा एसबीआई का पर्सनल लोन, जानिए इस सर्विस के बारे में

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्‍योरेंस में सीएफओ सत्‍यन जंबूनाथन ने कहा कि कुछ रीइंश्‍योरेंस फर्मों ने इस वित्‍त वर्ष की शुरुआत में दरें बदली थीं. जबकि अन्‍य अब दरें बदलने के बारे में सोच रही हैं. रीइंश्‍योरेंस की व्‍यवस्‍था की तर्ज पर जुलाई 2020 में लॉन्‍च नए प्रोडक्‍टों पर इसका असर देखने को मिला.

master

कब से बढ़ सकता है प्रीमियम?
इंश्‍योरेंस डिस्‍ट्रीब्‍यूटरों के अनुसार, कुछ कंपनियों ने अप्रैल 2021 से दरें बढ़ाने के संकेत दिए हैं. उसी समय से नए रीइंश्‍योरेंस कॉन्‍ट्रैक्‍ट अमल में आएंगे. जो कंपनियां रेट बढ़ा सकती हैं, उनमें मैक्‍स लाइफ इंश्‍योरेंस, टाटा एआईए लाइफ इंश्‍योरेंस, इंडिया फर्स्‍ट लाइफ और एगॉन लाइफ शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें : ईपीएफओ 4 मार्च को करेगा ब्‍याज दर का एलान, 6 करोड़ कर्मचारियों पर पड़ेगा असर


कैसे तय होते हैं रेट?
रीइंश्‍योरेंस कंपनियों के रेट जीवन प्रत्‍याशा यानी लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी पर आधारित होते हैं. यह एक लंबी अवधि का ट्रेंड होता है. इसका एक-आध साल के अनुभव से संबंध नहीं होता है. हालांकि, इस बार रीइंश्‍योरेंस कंपनियों का कदम महामारी के बीच उठाया गया है. इस महामारी ने भारत में करीब 1.5 लाख लोगों की जिंदगी निगली है.

क्‍या हैं इंडस्‍ट्री के लोगों का कहना?
इंडियाफर्स्‍ट लाइफ इंश्‍योरेंस के एमडी और सीईओ आरएम विशाखा ने कहा कि कोविड के कारण कंपनी को 41 करोड़ रुपये के 630 डेथ क्‍लेम मिले हैं. इनमें से 291 इंडिविजुअल पॉलिसी और 324 ग्रुप पॉलिसी के क्‍लेम हैं.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसीइंश्‍योरेंस डिस्‍ट्रीब्‍यूटरकैसे तय होते हैं रेटरीइंश्‍योरेंसमहंगी होगी टर्म पॉलिसीप्रीम‍ियम

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read
टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) घरेलू सोशल मीडिया मंच 'कू' के प्रयोगकर्ताओं की संख्या बढ़कर डेढ़ करोड़ के करीब पहुंच गई है। इसमें से 50 लाख प्रयोगकर्ता पिछली तिमाही के दौरान जुड़े है। कंपनी के सह-संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्ण ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कू भारतीय बाजार में अपना ध्यान केंद्रित करना जारी रखेगी और अधिक से अधिक प्रयोगकर्ता जोड़ेगी। जून, 2022 के बाद कंपनी की एक नए बाजार दक्षिण-पूर्व एशिया में उतरने की योजना है। राधाकृष्ण ने पीटीआई-भाषा से बातचीत में कहा कि भारतीय सोशल मीडिया मंच के प्रयोगकर्ताओं की संख्या में भारी इजाफा हो रहा है।नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) को वीडियोकॉन टेलीकम्युनिकेशंस के दो पूर्व अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के मामले पर "नये सिरे से ध्यान देने" और उन्हें सुनवाई का मौका देने के बाद नया आदेश जारी करने का निर्देश दिया है। इन दोनों पूर्व अधिकारियों की संपत्तियां और बैंक खातों पर रोक लगी हुई है। एनसीएलएटी ने एनसीएलटी की मुंबई पीठ को "निष्पक्ष, न्यायसंगत, संयमशील तरीके से गुण के आधार पर, नए सिरे से" जल्द ही जरूरी नया आदेश जारी करने का निर्देश देते कहा कि उसने (एनसीएलटी) "नैसर्गिक न्याय केएनसीएलएटी का एनसीएलटी को वीडियोकॉन के दो पूर्व अधिकारियों को सुनवाई का मौका देने का निर्देश

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान (आईसीएआई) के अध्यक्ष निहार एन जंबूसरिया ने अपने सदस्यों से हिंदी को बढ़ावा देने, अपने काम में और अन्य हितधारकों के साथ बातचीत में इस भाषा का इस्तेमाल करने को कहा है। कुछ हलकों में उनके इस निर्देश पर चिंता जतायी गयी है।उन्होंने हाल ही में जारी अपने मासिक ‘समाचार पत्र’ में कहा, "हमारी मातृभाषा हिंदी की शक्ति को समझते हुए आईसीएआई अपनी कार्य संस्कृति में हिंदी के अधिक इस्तेमाल को अपनाने की कोशिश कर रहा है।"संसद के एक अधिनियम के तहत स्थापित आईसीएआई, चार्टर्ड अकाउंटेंट के लिए देश का सर्वोच्च निकायनयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) छत्तीसगढ़ स्थित हीरा समूह की इकाई गोदावरी ई-मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड रायपुर में एक इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए 2023 तक 150 करोड़ रुपये तक निवेश करने की योजना बना रही है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपनी साथ ही दक्षिण और पश्चिम भारत के बाजारों में अपनी पहुंच को बढ़ाने के साथ नए उत्पादों को उतारने की भी तैयारी कर रही है। कंपनी वर्तमान में पूर्वी और उत्तर भारत के छह राज्यों में इब्लू ब्रांड के तहत बिजली से चलने वाले (इलेक्ट्रिक) तिपहियाआईसीएआई के अध्यक्ष ने सदस्यों से हिंदी को अपनाने, बढ़ावा देने को कहा; आलोचना के स्वर उठे

क्‍या आप 2021 में कार खरीदने की योजना बना रहे हैं? अगर हां तो कारदेखो डॉट कॉम के साथ हम यहां आपको कुछ शानदार विकल्‍पों के बारे में बता रहे हैं. कार के ये मॉडल इस साल लॉन्‍च हो सकते हैं या हो गए हैं. हमने यहां 15 लाख से 40 लाख रुपये की कैटेगरी में सबसे अच्‍छी कारों को चुना है.रीइंश्‍योरेंस कंपनियों के रेट जीवन प्रत्‍याशा यानी लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी पर आधारित होते हैं. यह एक लंबी अवधि का ट्रेंड होता है.कोविड-19 के बीच क्‍या ट्रैवल करने निकले हैं? ये 8 गैजेट्स रखें साथ

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


एल विकल्प हैंडीकैप लवबेट
फ़ुटबॉल ऑड्स वेबसाइट परिचय
10cric एफिलिएट प्रोग्राम
स्पोर्ट्स ट्रैक सूट
परिधीय फुटबॉल सट्टेबाजी मंच
पोकर खेल क्या है
स्पोर्ट्स नाम
डीएच कैसीनो
लॉटरी रिजल्ट टुडे
क्रिकेट बुक अवार्ड्स
lovebet एक्सएमएल
पोकर सितारे ऐप
188bet फेसबुक
शतरंज 4 कदम चेकमेट
करीना हिंदी
सट्टेबाजी की नौकरियां माल्टा
बेटा ऑल सॉन्ग
कानून द्वारा शासन
गोवा लोकसभा सीट
lovebet बी बिट्टू
लाटरी ऑनलाइन
betway फ़ुटबॉल
स्लॉट मशीन अर्थ
उदयपुरवाटी
तीन पत्ती पैलेस
गोवा होटल
लॉटरी टेक्सास