बड़ा गेमिंग रणनीति मंच

बड़ा गेमिंग रणनीति मंच

time:2021-10-21 01:37:29 मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं? Views:4591

ओ क्यू सिग्निफिका लवबेट बड़ा गेमिंग रणनीति मंच 188bet xem बोंग दा,fun88 डोटा 2,lovebet 3/4 सिस्टम,lovebet गर्ल,lovebet स्लॉट,Lovebeto'zbekistonda qonuniymi,बैकारेट 754,बकारट - मतलब हिंदी में,भारत में सर्वश्रेष्ठ पांच ऑक्सीमीटर,बोनस कैसीनो समीक्षा,कैसीनो हाउस,शतरंज 4 खिलाड़ी,जयपुर में क्रिकेट अकादमी,क्रिकेट आगामी मैच भारत,ई-स्पोर्ट्स आरके इंटरनेशनल इंक,फुटबॉल 9एन टीवी,मुफ्त 5 रील स्लॉट,जन्मदिन मुबारक हो किसान जॉन,बैकारेट कैसे पढ़ें,क्या कोई कानूनी और सुरक्षित मनोरंजन नेटवर्क है,कश्मीर और एच लवबेट,लाइव कैसीनो पुरस्कार,लॉटरी हैमिल्टन,लूडो रियल कैश गेम्स,ऑनलाइन बैकरेट का एक ग्राहक है,ऑनलाइन खेल,मोबाइल द्वारा ऑनलाइन स्लॉट जमा,खिलाड़ी रम्मी,पोकर ट्यूटोरियल,रूले गन,रम्मी 66,रम्मीकल्चर प्रोमो कोड,स्लॉट 7 कैसीनो कोई जमा कोड नहीं,500 . के तहत स्पोर्ट्स जैकेट,टा पोकरोवा ट्वार्जो,क्रिकेटर पत्रिका,v.पोकर वीआईपी/हिग्स डोमिनोज,बैकारेट खाता खोलने के लिए किस प्लेटफॉर्म पर अधिक छूट है?,cricket खबर,ओपन लॉटरी रिजल्ट,क्रिकेट डॉट कॉम,चीनी कोइ,त्रिपुरा लॉटरी संबंध,बरसात गुड मॉर्निंग,रमी ॲप्स,स्टेटस चित्र, .मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.
कई निवेशक अपने निवेश को लेकर आश्वस्त नहीं रहते हैं. उनके मन में कई सवाल चलते रहते हैं. मसलन-क्या उन्होंने सही जगह निवेश किया है? क्या उनका पोर्टफोलियो सही दिशा में बढ़ रहा है? ईटी के पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशक के पोर्टफोलियो के स्वास्थ्य का निरीक्षण कर सही सलाह देते हैं.

पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशकों की स्कीम का विश्लेषण करते हैं. उसके बाद बताते हैं कि क्या ये स्कीमें उनके लक्ष्य तक पहुंचने में उनकी मदद कर सकती हैं या नहीं. जरूरत पड़ने पर वे सही उपचार भी बताते हैं. उनकी सलाह फंड्स के प्रदर्शन, निवेशक की जोखिम क्षमता और वित्तीय लक्ष्य पर आधारित होती है.

केस 1 : आदित्य सेन बेटे के लक्ष्‍यों के साथ अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. वह अपने रिटायरमेंट के लिए 19 साल में 1.24 करोड़ रुपये जुटा लेना चाहते हैं. आइए, देखते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

इसे भी पढ़ें : कैसा है फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

लक्ष्य
master

निवेश पोर्टफोलियो
master1

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 1-2 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- चुनी गई सभी स्‍कीमें अच्छी हैं. लेकिन, निवेश बढ़ाने की जरूरत है.
- लक्ष्‍यों तक पहुंचने के लिए हर साल सिप की रकम 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- फंडों के अलावा हर महीने शेयरों में भी सीधे निवेश करें.
- इंश्‍योरेंस प्‍लान और चाइल्‍ड यूलिप भी होल्ड करें.
- सेविंग बैंक में काफी पैसा यूं ही पड़ा है. रेकरिंग डिपॉजिट से रिटर्न पूरी तरह टैक्सेबल है.

डॉक्टर का नोट
- इंश्‍योरेंस पॉलिसी में निवेश नहीं करें. रिटर्न बहुत कम हैं.
- रेकरिंग डिपॉजिट पूरी तरह टैक्सेबल हैं. बजाय इसके डेट फंडों को चुनें.
- यूलिप खरीदते वक्त प्रमुख लक्ष्‍यों के साथ मैच्‍योरिटी को अलाइन करें.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इसे भी पढ़ें : इन 7 कारणों से पीपीएफ है सबसे पसंदीदा टैक्‍स सेविंग विकल्‍पों में से एक

केस 2 : दीपक सिरोही बच्‍चे की शिक्षा और अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. आइए, जानते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

लक्ष्य
master2

निवेशक का पोर्टफोलियो
master3

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 2-3 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- लक्ष्य महत्वाकांक्षी हैं और मासिक निवेश में बड़ी बढ़ोतरी की जरूरत होगी.
- सिप की भी रकम हर साल 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य करीब आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इस कैलकुलेशन में माना गया है कि
- शिक्षा खर्च हर साल 10 फीसदी बढ़ेगा.
- अन्य लक्ष्यों के लिए महंगाई दर को 7 फीसदी रखा गया है.

रिटर्न
- इक्विटी से रिटर्न को 12 फीसदी रखा गया है.
- डेट से रिटर्न को 8 फीसदी रखा गया है.

इन पोर्टफोलियो की समीक्षा माईमनी मंत्रा के एमडी और संस्‍थापक राज खोसला ने की है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

RETIREMENT PLANNINGरिटायरमेंट प्‍लानिंगबच्‍चों के लक्ष्‍यप्‍लानिंगरिटायरमेंटनिवेश पोर्टफोलियोपोर्टफोलियो डॉक्‍टर

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.ईटीएफ के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

आईबीए ने बैंक कर्मचारी और अधिकारी संघों के साथ 11वीं द्विपक्षीय वेतनवृद्धि वार्ता नई सहमति के साथ सम्पन्न होने की बुधवार को घोषणा की.डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.टीसीएस ने छह महीनों में दूसरी बढ़ाई सैलरी, जानिए क्या है वजह?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
fun88 ऐप

पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.

स्लॉट मशीन ज़ीउस फ्री

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.

क्रिकेट इंग्लैंड बनाम पाकिस्तान

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.

फुटबॉल अंक नियम

महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

लाइव रूले टेबल

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी